Posts

Showing posts from 2015

Race And Achievement: Balancing The Debate

Image
The iPhone has its origins in America's constitution. One person one vote is heady stuff. Nepal and America were at similar levels of socio-economic development when America was born. But America was born out of democratic revolution, Nepal was born out of feudal conquest. And what a difference revolution has made.

The big broad picture in America is there is so much that works. The Chief Minister of Uttar Pradesh, the most populous state in India, recently made news because he has started work on what is the 911 service in America. You call 911 and the voice on the other end says, "What's your emergency?" Uttar Pradesh does not have that. It wants it. America has it.

So talk of intersection of law enforcement and race in America has to be balanced out with the fact that police service exists. But that appreciation also should keep the hunger alive. A more perfect union is always the goal. There is always room for improvement. The entire country struggles with race,…

मोदी का विदेश भ्रमण और FDI

Image
कल जो मैंने कह दिया वो तो मैं राहुल पर व्यंग्य वान प्रहार कर रहा था। कि यार जरा FDI पर स्कूलिंग करो। मैं तो बहुत बड़ा फैन हुँ मोदी के भ्रमण का। दो बड़े बड़े काम हुवे हैं।

चीन को भी अमेरिका को भी मात करना। ये तो बहुत बड़ी बात हो गयी। नहीं? भारत को दुनिया के नक्से पर स्थापित किया। भारत सिर्फ भारत में नहीं है। भारत तो सरे विश्व में है। मोदी पर प्रवासी भारतीयों का भी तो हक़ बनता है। चीन ने पिछले २५ साल में जो किया है वो प्रवासी चिनिया समुदाय के बगैर कर ही नहीं सकते थे।  I was totally joking. भाषा ही देखो मजाक का है। 
मोदी को दो चीज करने चाहिए।  अपने रोडमैप पर चलो। विपक्ष ने कहा विदेश भ्रमण ज्यादा हो गया तो उसके आधार पर कटौती मत करो। बल्कि explain भी करते जाओ। जब आवाज आती है भ्रमण बहुत हुवा तो जवाब दो कि भ्रमण क्यों हो रहा है।  वैसे भी मेरे को लगता है अब आगे के साल विदेश भ्रमण का सिलसिला वैसे भी naturally ही पहले साल से कम पड़ जायेगा। लेकिन dramatically कम हो गया तो खटकेगा। कि क्या हुवा? कहीं भारत FDI के लिए less welcoming तो नहीं हो गया? 
मोदी जब किसी देश का भ्रमण करते हैं और वहाँ  मीडिया कवरेज …

Right To Privacy Is Important

Image
The right to privacy is important. There is a reason why it is listed as one of the fundamental human rights, like free speech. Just because technology makes privacy invasion possible does not mean it is okay to go ahead and do it. You could destroy or disorient a person's sense of well-being by mauling their privacy.

Mass surveillance gone awry is like just because America has atom bombs, it is going to let them explode. Human lives were lost, but then the technological possibility just showed up. Tech: handle with care. Right to free speech perhaps is not as important as right to life, but one should not have to choose.

And that is a challenge. Because there is so much that can be done fast with the right use of this new technology. Say face recognition. Or biometric ID. That would be a great way to give every human being an ID and perhaps something like a credit history, fast. This could also be put to security use. We would be less anxious about people moving around globally i…

Modi: NRI Prime Minister?

Image
किसी ने कह दिया मोदी को NRI Prime Minister ------- महिनो पहले राहुल गांधी ने ऐलान किया था, "हमारे प्रधान मंत्री अभी भारत के भ्रमण पर आए हुवे हैं।

मोदी पिछले २०-३० साल कभी एक दिन भीं कहीं vacation पर नहीं गए। दिलोजान काम करते रह गए। तो जब प्रधान मंत्री बने तो शायद उन्हें लगा चलो यही मौका है, सुद ब्याज सहित सब असुल लेते हैं। काम की क्या पड़ी है। काम तो होता ही रहता है। काम कभी ख़त्म होता है क्या? कुछ न कुछ होता ही रहता है।

मेरे को लगता है अब शायद ही कोई देश बचा हो। और जहाँ खुद नहीं गए वहाँ के लोगों को खुद बुला लिए।




India emerges top FDI destination leaving behind China, US in 2015
Guest column: Modi magic? India overtakes China, US on FDI front in first half of 2015
India Becomes World’s Top FDI Destination, Beats USA & China In Attracting Investors
Pay-off time for Modi: India displaces US, China as the top FDI destination in 2015
Why Does India Beat China In the Remittance Game?

Bajirao Mastani: English Subtitles: US Mainstream Release

Image
बजराओ मस्तानी विक्की क्रिस्टीना बार्सिलोना

डबिंग करो तो मजा किरकिरा हो जाता है। हाँ, लेकिन इंग्लिश सबटाइटल दे दो तो मेरे को लगता है ये मूवी अमरिका के  जो मेनस्ट्रीम थिएटर हैं वहाँ जोरो से चलेगी। सुनते हैं १०० करोड़ पार कर चुकी मूवी। अमरिका में १०० मिलियन डॉलर पार करेगी। कर के तो देखो।



अमरिका का टेक रेवोलुशन सब श्रेय जाता है नेहरू को। वो तो अभी गूगल माइक्रोसॉफ्ट में उपर ही आ गए हैं। नहीं तो शुरू से ही भारतीय इंजीनियर ही सब काम कर रहे हैं। तो सॉफ्टवेयर इंजीनियर भेजा तो कमाई हुवी।

लगे हाथ अब शहर शहर योग गुरु भेजो। वैसे भारतीय डाक्टर पहले ही पहुंच गए हैं। प्रत्येक शहर में। लेकिन योग गुरु भेजो। बहुत बड़ा मार्केट हैं। लोकल योग गुरु उटपटांग कर देते हैं। मैं गया हुँ। योग को १००% स्ट्रेचिंग बना के प्रस्तुत करते हैं। तो मेरे को लगा नहीं यहाँ मार्केट है।

डाक्टर भेजा। सॉफ्टवेयर इंजीनियर भेजा। आग लगे हाथ योग गुरु भी भेजो।

उसको बाद बजिराओ मस्तानी इंग्लिश सबटाइटल में रिलीज़ करो। तब हिंदी सिखलाने वाले लैंग्वेज टीचर भी भेजना शुरू कर दो। बिहार इस मायने में आगे आ सकता है। शिक्षा का विरासत है बिहार में। लोग…

Opposition Ki Jaroorat

Image
Opposition Ki Jaroorat

Bharat ke rajniti ko do cheej ki sakht jarrorat hai. Ek ki paanch sal mein sirf do deen chunav ho. Yani national, state aur local election sirf us do deen honge. Ravivar ko, chhutti ke din. Taki log booth par asani se jaa sake.

Ek wo, aur dusra desh ke rajniti ka bi-polarization. Mera Modi se man ub gaya wo main nahin kah raha. Actually, I am more excited about Modi now than I was about a year ago. Ek sal pahle to sirf promise tha, kam to kuchh dikha nahin tha. Ab to maine kaam bhi dekh liya. Bahut thos kam kar rahe hain. Lekin Modi ka bhavishy nirnay karne wala main kaun hota? Modi ko banaya bharat ki janata ne. Modi ko tikayega bharat ki janata. Main to us equation mein hun nahin.

Lekin desh ke rajniti ko polarization chahiye. Ek hai National Democratic Alliance. Aur us mein jarrorat se jyada alliance partner hain wasi baat nahin. Balki jitne chahiye satta mein tike rahne ke liye, usse kahin kam hain. Dusra pole hai Grand Alliance. Wo abhi Bihar mein s…

2016: The Year For Barack Obama's Revolution From The Top

Image
2016: The Year For Barack Obama's Revolution From The Top



Barack Obama’s autobiography Dreams From My Father is full of little references to what Nelson Mandela in his autobiography called “a thousand little indignities.” But one was talking mostly about America, the other about apartheid South Africa. Can one black man’s ascension to the top make up for racist snarls at the highest levels of government like in the US Senate?

It is time we faced the fact the United Nations is not a world government. It is time to call a spade a spade. It is time to see this institution designed by the World War II victors no longer works. This is not a world government by the far stretches of the imagination. Often when we talk of civil rights movements, we think in terms of ordinary people marching out in the streets. But now is the time for a civil rights movement in which the heads of state march.

What we have is essentially apartheid. The leading country remains fundamentally racist, nowhe…

बुश का बघदाद (२)

Image
बुश का बघदाद

अमरिका पर बिन लादेन ने बाद में हमला किया। उससे पहले हमला बोला बुश ने। Record Surplus को Record Deficit बना दिया। इतना बड़ा टैक्स कट किया कि देश सीधे मुह के बल जा के गिर पड़ी।

जनता मुर्ख। उसने वैसा ही मैंडेट माँगा था। जनता ने दे दिया। अमेरिका के गरीब जनता को social issues पर इस तरह डिवाइड कर दिए हैं ये नियमित अपने अहित में वोट देते रहते हैं।

९/११ हुवा। तो अफ़ग़ानिस्तान पर वार करो। कि पर्ल हार्बर पर अटैक किया जापान ने और तुम ने अटैक कर दिया इंडोनेशिया? Looking Tokyo Going London? अभी भी ४०% अमेरिकी कहते हैं ९/११ किया सद्दाम ने। ४०% वो वही हैं जो नक़्शे पर प्रशांत महासागर नहीं ढूँढ सकते। २०-३०% अमरीकी कहते हैं ओबामा मुसलमान है।

कितने लोग मरे वो भी हिसाब करो लेकिन ओ अलग करो। इस ब्लॉग पोस्ट में सिर्फ पैसा की बात करते हैं। एक से १० लाख के बीच लोग मरे सब मिला के। युद्ध के कारण जो सिविल वॉर हो गया उसके मृतक भी तो गिनोगे। जितने अमरिकी ९/११ में मरे उससे जयादा इराक में।

युद्ध का बिल बुश का तीन ट्रिलियन डॉलर। वो इतना ज्यादा पैसा है लोग सोंचना ही छोड़ देते हैं। कहीं १०० डॉलर पॉकेटमारी होती …

पहली बार मोदी नवाज Body Language पॉजिटिव है

Image
Modi's Lahore stopover nothing more than an adventure, says Congress
"It is unfortunate that we get to know about prime minister's visit through a tweet... India and Pakistan relations are not so good as yet that he stops over there on his way back from another country," Congress spokesperson Ajoy Kumar said.

बजराओ मस्तानी विक्की क्रिस्टीना बार्सिलोना

Image
एक इंटरव्यू में दीपिका ने कहा कि वो चाहती हैं वुडी एलेन के साथ काम करें। मेरे नजर में वुडी एलेन का सबसे बेहतर मुवी है विक्की क्रिस्टीना बार्सिलोना। तो बजराओ मस्तानी विक्की क्रिस्टीना बार्सिलोना को एडाप्ट किया गया है ऐसा लगता है। उससे भी बेहतर। क्योंकि विक्की क्रिस्टीना में मुघल बगैरह नहीं हैं। इमोशन तो इमोशन होता है, चाहे ओ आज का हो या २०० साल पहले का हो। टेक्नोलॉजी बदल सकता है, इमोशन परमानेंट है। दिलखुश। बहुत गहरा चोट करती है ये मूवी। अमिताभ की सीधे उत्तराधिकारी हैं दीपिका। इनको एक्शन में देख के तिलमिला जाते हैं।



बुश का बघदाद

Image
MasterCard Classic (Photo credit: Wikipedia) बुश जब बघदाद आया तो सबसे पहले क्या काम किया कि ट्रांसफार्मर उड़ाओ, पानी टंकी उड़ाओ। सद्दाम कहीं भी छुपा हो सकता है। अजीब आदमी है। ये नहीं सोंचा लोग पानी पीते होंगे। मरुभूमि इलाका। तबतो सद्दाम ने पानी टंकी लगवायी होगी। कि पानी टंकी लगा दो नहीं तो लोग बगावत कर देंगे। प्रेस्टीज इशू है। अगर लोग बगावत कर देते हैं तो फिर ये जो इमेज है कि सद्दाम डिक्टेटर है वो तो गयी काम से। तो बुश ने उड़ा दिया। सबसे पहले। उसको कोई परवाह नहीं कि बगावत हो सकती है।

बुलडोज़र लगाने में टाइम लगता है क्या? दो चार रोज में युद्ध ख़त्म। तो फिर तुरंत उन्ही ट्रांसफार्मर और पानी टंकी के लिए अपने करीबी दोस्तों को मेगा बिलियन का बिना कम्पटीशन का कॉन्ट्रैक्ट दे दिया। देश लिबरेट कर दिया अब लगा दो ट्रांसफार्मर, लगा दो पानी टंकी। इराकी भी क्या याद करेंगे। 
राजनीति में एक पुराना नियम है: Follow The Money. अगर आपको राजनीति समझ नहीं आती और समझना हो तो ये फोर्मुला लगा दो बहुत राजनीति आपको समझ में आ जाएगी। 
कुछ हैं conspiracy theorists वेबसाइट बगैरह बना के बैठे हैं कहते हैं ९/११ बुश ने किया,…

India: Holding Two Elections Every Five Years

Image
Indian general election, 2009 (Photo credit: Wikipedia) I think that would be a great idea. The entire country has only two election dates every five years. The national elections and half the state elections are held on one day. State elections for the rest of the states are held on the other day. And all local elections are also held on one of the two days.

For the state elections it would be a good idea to get half the country (by population) vote on one day, and the other half on the other day. If you put together the North-East, West Bengal, Sikkim, Bihar, and Uttar Pradesh in one basket, would that be half the country? If not add a few more adjacent states. 
Basically you get rid of the idea of mid-term elections. Parliaments do full terms. Why not? 
With the current system, you can get a decisive mandate for the Lok Sabha and still feel like you never really got a mandate. Elections are never over. There's always a major election just round the corner. Bihar is over, Uttar …

Bill Clinton Took Three Years

Image
The guy who gave America its longest peacetime economic expansion took three years to show he was up to something. 1993 was dud, 1994 was dud, 1995 was a dud. But US in 1992 is not India in 2014. The US was already a First World Country at the time. There was no fundamental infrastructure to build. The Indian democracy is so much more complex, one of the smartest Americans ever to become ambassador to India simply referred to it as "the imponderables of Indian politics," JFK's John Kenneth Galbraith.

Narendra Modi has been doing excellent work. At a fundamental level. The GST bill alone will give India another two points in terms of growth. And with everything else he has been doing, I see the economy going past a 10% growth rate before he has to go to the people again in 2019. If the growth rate is past 10%, he will see re-election. I have no doubts in my mind. Right now I don't see how the growth rate will not go past 10%. It has to. He has been doing excellent wor…

रावण या वाल्मिकी: कौन बड़ा सनातनी शैतान?

Image
रावण अपने युगका सबसे बड़ा ज्ञाता था, the most learned man alive. वेद पुराण उसको सब मालुम था, पन्ना पन्ना। इस बातका खुद रामको एहसास था। रावण के सामने वाल्मिकी कुछ नहीं। लेकिन दोनों थे सनातनी। एक ही गैंग के लोग। जैसे भारत के पास थल सेना है, वायु सेना, जल सेना। अलग अलग नहीं है।

सनातनी को आजतक घमंड है कि तुम हमसे जित ही नहीं सकते। पहले तो वो बर्बर आक्रमण कर देता है। जैसे बाघ हरिण को मार देता है। सभ्य लोग वैसा नहीं करते। लेकिन जंगल राज में सब चलता है। वो जो हजारों लाखों भिक्षुओ को किया। जमीन जायदाद के लिए तो नहीं किया। By definition भिक्षु के पास कुछ नहीं होता। तो फिर क्यों? भिक्षु का सबक अहिंसा। तो वो तो सभ्य भाषा हो गयी।

अपहरण। Kidnapping. रावण ने वही तो किया। रावण को इस बात का आश्चर्य हुवा कि सीता वन से सोने के लंका में आ गयी लेकिन खुश नहीं है। इसकी उसने कल्पना नहीं की थी। सीता का राम से स्वयंवर हुवा था। सीता ने खुद पसंद किया था। तो सनातनी worldview में औरत होती है property. गेहुँ का बोरा आप एक कमरे से दुसरे कमरे में ले जाते हो तो गेहुँ से पुछते हो क्या? जितने ऋषि मुनि हैं सबके सब पुरुष…

ये क्या हो रहा है? American Style Gridlock?

Image
ऐसे देश १०% तरफ नहीं जाएगी। जिस देशमें इनकम टैक्स ठोस नहीं है वहाँ सरलीकृत सेल्स टैक्स का होना बहुत जरुरी है। Informal sector को भी समेट लेती है।



Indian Politics Thwart Prime Minister Narendra Modi’s Tax-Reform Plans For the second time this year, India concludes its Parliament session without legislating a nationwide sales tax Partisan bickering in India’s Parliament has stalled an important piece of Prime Minister Narendra Modi’s economic agenda: a constitutional amendment that would create a simplified nationwide tax system to replace a commerce-stifling patchwork of state levies. .... The winter session of India’s legislature ended Wednesday without a vote on the measure in the upper house, where Mr. Modi’s Bharatiya Janata Party is in the minority, after lawmakers spent weeks trading jabs over graft allegations involving top politicians. ..... “The economy suffers while politics overrides everything.” ..... Facing opposition protests and fearing a rural backlash ahead of the…

NDA GA Bipolarization: 30, 20, 50: What India Needs

Image
The original version of General Electric's circular logo and trademark. The trademark application was filed on July 24, 1899, and registered on September 18, 1900 (Photo credit: Wikipedia) थर्ड फ्रंट तो था ही नहीं। २०१४ में। और राहुल भी उम्मेदवार नहीं थे। सोनिया ने सक्रिय पहल किया। तो बीजेपी को ३०% और काँग्रेस को मिला २०% ---- और दुर दुर तक कोसो तक एक सफ़ेद धुँवा है फैला हुवा जहाँ ५०% मत बिखरे पड़े हैं। वो थर्ड फ्रंट नहीं है। इसी लिए मैंने कहा देशकी राजनीती एक कॉमेट की तरह है। न unipolar, न bipolar, न multipolar. सफेद धुँवा फैला हुवा है। इससे देश को घाटा है। देश के के हित में है कि एक bipolarization हो जाए। लोकतंत्र को अर्थतंत्र को ये चाहिए।

CBI ने जो रेड किया केजरीवाल के ऑफिस में ये तो बहुत बड़ी बात हो गयी। खबर मिल रहा है कि मोदी ने नहीं करवाया। तो ये क्या हुवा? ये तो एक कु हो गया। इससे पहले जिस सक्स को सीबीआई ने तंग किया वो आज प्रधान मंत्री है। उससे पहले जभी लालु को तंग किए। कुछ समय बाद अंक गणित लालु के पक्ष में आ गयी थी। Waste कर दिया गया।

General Electric कंपनी में है १० साल में ल…

Ramayana: Rewriting History

Image
English: Deities of Sri Sri Sita-Rama, Lakshmana, Hanuman at Bhaktivedanta Manor temple, in Watford, England. (Photo credit: Wikipedia)Valmiki was a Sanatani. He made Ram look bad. Ram's story is unique. नहीं तो जीजस को देखो अकेले पोल पर लटका हुवा है। ईसाइ धर्म में या यहुदी में है की ईश्वर ने पुरुष बनाया और पुरुष ने अपने हड्डी से औरत। तो वहां तो महिला को बराबरी मिलने से रहा। विश्व के प्रमुख धर्मो में सिर्फ राम सीता की कहानी है जहाँ महिला पुरुष बराबर हैं। बल्कि सीता एक स्तर ऊपर। राम दशरथ का पुत्र सीता धरती की पुत्री। राम ने धनुष नहीं उठाया। सीता ने शिव से अनुनय किया कि मैं चाहती हुँ यही धनुष उठाए। राम सीता पर आधारित धर्म में महिला को बराबरी मिलेगी, मिलनी चाहिए। यानि की रामभक्त को दलित बनाना सिर्फ हरिजन नहीं महिला पर भी वार है। सनातनी महिला को जगह नहीं देते। बिलकुल नहीं।

तुलसीदास रामभक्त था। हरिजन। दलित। रामभक्त ने राम को हीरो के रूप में प्रस्तुत किया। वाल्मिकी के संतति आज के नेपाल के विलन हैं। कुछ ही रोज पहले जानकी मंदिर के भितर बुट पहन के घुस गए। एक हिन्दु वो काम कर ही नहीं सकता।

यादव और कृष्ण, हरिजन और राम: हरे राम हरे कृष्ण

Image
जब हरे राम हरे कृष्ण वाले किसी गोरा को कन्वर्ट करते हैं तो नहीं कहते अब तुम ब्राह्मण हुवे, या वैश्य। कास्ट की बात ही नहीं होती। हिन्दु भी नहीं कहते। Krishna Consciousness.

यादव कृष्ण के संतति। हरिजन राम के भक्त। यादव का कोइ कास्ट नहीं। हरिजन का भी कोइ कास्ट नहीं। उन पर उपर से थोपा गया है। जिस तरह भारत पर विक्टोरिया ने थोप दिया। सनातनी ने हरिजन को दलित बना दिया। Colonized, Oppressed.

तो इस Oppression को ख़त्म करना होगा।

हरे राम हरे कृष्ण एक राजनीतिक कोएलिशन का भी नाम हो सकता है। लेकिन उसके बाद काम ठोस होना चाहिए। सिर्फ दलित नेता या पार्टी को वोट दे के ये Oppression खत्म नहीं होगा। उसके लिए lawmaking, law enforcement, और पाँच स पर जाना होगा। कोइ किसी को मंदिर जाने से रोकता है तो वो जुर्म नहीं है तो जुर्म बनाओ।

सनातनी अपना standalone identity बनाओ और रहो। ब्रिटेन भी एक टापु है।

कास्ट सिस्टम से बड़ा डिवाइड एंड रुल का हथियार विश्व इतिहास में दुसरा कोई बनाया ही नहीं गया। सनातनी सुरज अंग्रेज दीपक।

शायद दलित को ये कहना होगा हम हिन्दु नहीं हरिजन हैं। हमारा अलग धर्म है। हम रामभक्त हैं।


The Pendulum Of Democracy, Modi, And India

Image
I feel like people are making too much out of the Bihar election. Chief Minister ka chunav tha, and the best candidate won. The only candidate won. Noone else was even running. The Bihari voter knows the difference between a national election and a state election. The media doesn't know, doesn't care.

In a democracy, the people want to feel like they are boss. And so they balance it out. US mein hi dekh lo, jis party ko White House dete hain, Congress usko nahin dete. If you have the White House, chances are you will not hold the majority of the state houses. It is because the voters are smart. They wish to balance it out.

Precisely because Modi got such a decisive mandate in 2014, he should lose all state elections to 2019. That would not mean he is not performing. I think he has been doing great work. That just means the voters are smart. They want to keep the power and balance it out.

Each state has its own dynamic. One can only hope the best candidate for Chief Minister w…

Kejriwal And Modi: Not On The Same Plank

Image
I was unhappy when Kejriwal tweeted his attack on Modi calling him names. It was not only not the language of a mature democracy, it also sounded inaccurate. He made it sound like Modi had personally directed the raid. I have not read up on the raid, it's not worth my time. If you feel the CBI has wronged you, go get a lawyer. Manmohan Singh did after he got out of office and was subjected to some kind of inquiry. He asked the court to dismiss it, and the court did. Not that Kejriwal is Manmohan Singh.

Such a comment mars India's image that Modi has worked so hard to cultivate ever since he got into office. He had a purpose. India has beat both China and the United States on FDI this year. Is that something, or is that something? Itna bejod kaam ho raha hai.Thos kaam ho raha hai. 

Kejriwal likes to imagine there is some kind of a personality clash going on between Modi and him: not true. There is no evidence. Yaar, size to dekho. Delhi ka size kya hai?

Kejriwal has a mandate…