The Modi Positivity

बहुत लोग कहते हैं, न्यूज़ मत पढ़ो, न्यूज़ में negativity बहुत होता है। मीडिया वाले बढ़चढ़ के दुनिया की सारी खराबियाँ न्यूज़ में परोसते हैं। बेकार में मुड़ ख़राब क्यों करना है? वो सुझाव गलत नहीं है। अब तो सोशल मीडिया के तहत घरघर में से जैसे अख़बार निकलता हो। वैसी नौबत है।

लेकिन मैं जब न्यूज़ में प्रधान मंत्री मोदी के बारे में पढता हुँ तो मेरे मन मष्तिष्क में positive तरंग पैदा होते हैं। मेरा प्रयास रहता है रोज मैं मोदी के बारे में न्यूज़ में थोड़ा बहुत पढ़ लूँ। मेरे मोबाइल फ़ोन पर The Economic Times का ऐप्प मैने download किए हुवा है। ट्रेन पर सफर करते बक्त पढ़ लिया करता हुँ। समय का सदुपयोग भी हो जाता है। ये कहने का जगह भी नहीं रहता कि मोदी ने मेरा वक्त जाया किया। ट्रेन में बैठे लोगो के चेहरे पर ज्यादा देर देखो तो उनके चेहरे पर मीडिया का negativity दिखने लगता है। उससे अच्छा मोदी के बारे में न्यूज़ पढ़ो।

मोदी ने सारे भारत का दिल चुनाव से पहले जिता --- मेरा दिल जिता चुनाव के बाद। मेरे को blame मत करो भाइ --- पैदाइश बिहार की है। नितीश बिहार के मसीहा बन के उभर रहे थे। Land Acquisition Bill तक मैं दोनों को बराबरी पर रख रहा था। लेकिन अब मेरे दिलमें मोदीका पलड़ा भारी है। मैं अब चाहता हुँ मोदीको राज्य सभा में बहुमत मिल जाए ताकि उनको जमीन मिल जाए। ताकि भारत मेरे जीवन कालमें First World Country बन जाए।


Comments

Popular Posts