योग, हिंदी और भिटो पावर

मोदी का अंतर राष्ट्रिय योग Day वाला मुभ बहुत अच्छा रहा। आजका जमाना है, विश्व शक्ति बनना है तो सॉफ्ट पावर के बल पर बनो। दो शक्ति के पास nuclear पावर है तो दोनों में traditional लड़ाई तो होगी नहीं। Under those circumstances if and when the war might go hot, you strike with a small group of super trained people in a clear, short, surgical operation. You are in and out. But those are limited, rare moves.

UN में भारत को भिटो पावर मिलना चाहिए ----- इस बात पर अमरीका भी तैयार, चीन भी तैयार ----- मौसी भी तैयार, बसंती भी तैयार। मेरे विचार में भिटो पावर से भी ज्यादा मायने रखेगी हिंदी को UN का छठा भाषा बनवाना। Bollywood को चार चाँद लग जाये। वैसे भी Google पुरे इंटरनेट को हिंदी में मशीन से अनुवाद कराने के उपाय ढूँढ रहा है।



Democracy और Development और moDi का D ---------- three Ds जैसे कि मोदी बोलेंगे। Democracy and Development are export items. Democracy export करने के नाम पर अमेरिका से गहरा अलायन्स बनाओ। Development export करने के नाम पर चीनसे गहरा अलायन्स बनाओ। चीन के साथ झगड़ा थोड़े करना है --- थोड़ा मोड़ा posturing करनी है इधर उधर। चिनिया लोग बहुत pragmatic तरीके से सरकार चलाते आए हैं। उनको सब से ज्यादा जो चीज चाहिए वो है trade ------ झगड़ा करने को वो लोग कहते हैं waste है। बेकारकी फ़ालतु चीज।

Comments

Popular Posts